logo English           g20logo

विजन और मिशन

विजन


अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ख्याति प्राप्त संस्थान के रूप में बौद्धिक उत्कृष्टता एवं सामाजिक प्रतिबद्धता के साथ उच्च तकनीकी और वैज्ञानिक शिक्षा के क्षेत्र में, जहां पहल का विकास, नए विचार, शोध और उत्कृष्ट ज्ञान का संवर्धन होता हो और बौद्धिक ईमानदारी एवं आदर्श हो तथा इससे प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में भविष्य के आविष्कारों हेतु नेतृत्वकर्ता सृजित हों ।

एक विकासशील समाज में प्रेरक के रूप में कार्य करते हुए, देश के प्रमुख प्रौद्योगिकी शिक्षा संस्थान के रूप में इसका लक्ष्य न केवल राष्ट्र के तकनीकी विकास में बल्कि इसके समग्र विकास में भी शामिल होना है ।

मिशन


मानवशक्ति को इंजीनियरिंग और प्रौद्योगिकी तथा अनुप्रयुक्त विज्ञान, प्रबंधन और अनुप्रयुक्त कला के विभिन्न विषयों में स्नातक, स्नातकोत्तर और शोध के स्तर पर शिक्षित और प्रशिक्षित करना ।

अपनी विशिष्ट योग्यता वाले क्षेत्र में नए और प्रासंगिक प्रौद्योगिकियों के सृजन को बढ़ावा देने और प्रभावी उपयोग हेतु उन्हें उद्योगों को हस्तांतरित करना ।

अभियंत्रण एवं प्रबंधकीय समस्याओं के समाधान तथा समाज एवं उद्योगों में इनकी प्रासंगिकता को देखते हुए योजना निर्माण में प्रत्यक्ष सहभागिता ।

इंजीनियरों और प्रबंधकों के अभ्यास के लिए सतत शिक्षा कार्यक्रमों का विकास और संचालन करना ।

निजी और सार्वजनिक क्षेत्र के उद्योगों और सरकारी उपयोगकर्ता विभागों के साथ मजबूत सहयोगी और सहकारी संपर्क विकसित करना ।

पारस्परिक लाभ के लिए देश और विदेश में प्रमुख शैक्षिक और अनुसंधान संस्थानों के साथ व्यापकऔर घनिष्ठ संबंध विकसित करना ।

अध्यापकों के विकास एवं संवर्धन के लिए कार्यक्रम विकसित करना ।

राष्ट्र की तकनीकी जरूरतों की प्रत्याशा और उन्हें पूरा करने की योजना तैयार करना ।

वैज्ञानिक एवं प्रौद्योगिकी संबंधी विचारों एवं प्रयासों के प्रति समुदाय/समाज में समग्र रूप से एहसास जागृत करना ।

शिक्षा एवं प्रशिक्षण सहित समुदाय विकास कार्यक्रमों के माध्यम से उस क्षेत्र का विकास करना जहां संस्थान स्थित है ।

भूवैज्ञानिक संग्रहालय में पत्थर

 

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान
(इंडियन स्कूल ऑफ माइंस)
धनबाद- 826004
झारखंड, भारत

आगंतुकों:
1
3
8
4
6

कॉपीराइट @ आईआईटी (आईएसएम) धनबाद

Accessibility Tools